Home » ख़बरें जरा हटके, देश, मुख्य समाचार » शहीद डीएसपी की पिस्टल बरामद !

शहीद डीएसपी की पिस्टल बरामद !

:कुंडा में डीएसपी जियाउल हक की जान लेने के बाद उनकी गायब सर्विस रिवाल्वर मिल गयी है और इसे हत्याकांड की जांच में एक अहम कामयाबी माना जा रहा है जिले के अपर पुलिस अधीक्षक आशाराम यादव ने हक की हत्या के बाद से लापता उनकी सर्विस पिस्तौल बरामद हो जाने की पुष्टि की है. लेकिन यह बताने से इंकार किया है कि वह रिवाल्वर किसके पास और कहां से मिली. इस बीच सीबीआई अधिकारियों की एक टीम ने प्रतापगढ के मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) कार्यालय का दौरा किया और डीएसपी हक और उसी रात मारे गये ग्राम प्रधान के भाई सुरेश यादव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का अध्ययन किया.

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि डीएसपी हक की जान लेने वाली गोली पिस्तौल से चली थी या राइफल से. जांच हाथ में लेने के बाद सीबीआई के आज तीसरी बार सीएमओ कार्यालय पहुंची थी. इससे पूर्व कुंडा हत्याकांड में सबसे पहले मारे गये ग्राम प्रधान नन्हे यादव की हत्या में नामजद दो मुख्य अभियुक्तों ने आज सीबीआई के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. सीबीआई सूत्रों ने बताया है कि ग्राम प्रधान नन्हे यादव की हत्या में नामजद दो मुख्य अभियुक्तों कामता प्रसाद पाल और उसके बेटे अजय कुमार पाल ने आज कुंडा मे सीबीआई के शिविर कार्यालय में जाकर आत्मसमर्पण कर दिया और सीबीआई अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे है. उन्होंने बताया कि आज दोनो अभियुक्तो के समर्पण के बाद अब ग्राम प्रधान की हत्या में नामजद अभियुक्तो मे केवल एक अजीत कुमार सिंह ही सीबीआई की पकड से बाहर रह गया है.

इससे पूर्व सीबीआई ने कुंडा के निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के दो नजदीकियो संजीव प्रताप सिंह उर्फ गुडडू सिंह तथा राजीव प्रताप उर्फ राजू सिंह को कल घटनास्थल पर ले जाकर पूछताछ की थी. दोनो फिलहाल सीबीआई रिमाण्ड पर हैं. उल्लेखनीय है कि सीबीआई दो मार्च को कुंडा के बलीपुर गांव में हुई ग्राम प्रधान नन्हे यादव,उसके भाई सुरेश और डीएसपी जियाउलहक की हत्याओं के मामले की जांच कर रही है.

Leave a Reply

© 2013 lucknowsatta.com · RSS · Designed by TIV Labs