Home » खेल, देश, मुख्य समाचार » गणेश के कार्टून पर दक्षिण अफ्रीका के हिंदू समुदाय नाराज

गणेश के कार्टून पर दक्षिण अफ्रीका के हिंदू समुदाय नाराज

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के बीच खींचतान को दिखाने के लिए बनाए गए भगवान गणेश के कार्टून ने दक्षिण अफ्रीका के हिंदू समुदाय को नाराज कर दिया है, जिन्होंने इसे उनकी श्रद्धा को ठेस पहुंचाना करार दिया है।

जाने माने राजनीतिक कार्टूनिस्ट जोनाथन शापीरो ने भगवान गणेश को बीसीसीआई के रूप में दिखाया है जबकि सीएसए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हारून लोर्गट उनके चरणों में वेदी पर लेटे हुए हैं और उनके अधिकारी उनकी बलि चढ़ाने को तैयार हैं।

संडे टाइम्स में छपे कार्टून में भगवान गणेश को एक हाथ में क्रिकेट का बल्ला पकड़े हुए जबकि दूसरे में नोटों की गड्डियां पकड़े हुए दिखाया गया है। सीएसए मुनाफे के लिए भारतीय दौरे पर निर्भर रहता है और इस तरह इस कार्टून में दिखाया गया है कि वह पैसे के लिए बलि चढ़ाने को तैयार है।

दक्षिण अफ्रीका में हिंदू संगठनों के प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से इसे उनकी श्रद्धा को आहत पहुंचाने वाला करार दिया है। राजनीतिक विश्लेषकों ने हालांकि कहा है कि इसके जरिये सीएसए और बीसीसीआई के बीच की खींचतान को शानदार तरीके से दिखाया गया है जिसमें दक्षिण अफ्रीकी बोर्ड भारत के दौरे को बचाने के लिए लोर्गट का ‘बलिदान’ करने को तैयार है।

सीएसए पिछले हफ्ते राजी हो गया था कि लोर्गट दौरे के दौरान बीसीसीआई के किसी मामले का हिस्सा नहीं होंगे जबकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद में भी वह बीसीसीआई से जुड़े मामलों में शिरकत नहीं करेंगे। बीसीसीआई के साथ लोर्गट के रिश्ते तभी से अच्छे नहीं हैं, जब वह आईसीसी के मुख्य कार्यकारी थे।

इस बीच दक्षिण अफ्रीका हिंदू धर्म सभा (एसएएचडीएस), दक्षिण अफ्रीका हिंदू महासभा और दक्षिण अफ्रीका तमिल महासंघ सभी ने इस कार्टून की निंदा की है और संडे टाइम्स से माफी मांगने को कहा है।

दक्षिण अफ्रीका हिंदू महासभा के अध्यक्ष राम महाराज ने कहा कि रविवार को कार्टून छपने के बाद से हमें लगातार हिंदू समुदाय के सदस्यों के फोन आ रहे हैं और वे कार्टूनिस्ट और प्रकाशक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कार्टून को अपमानजनक करार दिया।

हिंदू समुदाय की कड़ी प्रतिक्रिया के बावजूद जापीरो नाम का इस्तेमाल करने वाले कार्टूनिस्ट शापीरो और संडे टाइम्स ने कहा कि वह कार्टून छापने के लिए माफी नहीं मांगेंगे।

शापीरो ने बयान में कहा मुझे लगता है कि अधिकांश पाठक भगवान गणेश को एक रूपक के रूप में देखेंगे और उस तरह नहीं जैसे वह असल में हैं, इस तरह से यह क्रिकेट पर प्रतिक्रिया है। उन्होंने कहा कि कार्टून में आलोचना की गई है कि किस तरह दुनिया के सबसे अमीर और ताकतवर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ने सीएसए को बाध्य किया कि वह अपने सीईओ हारून लोर्गट को अलग-थलग करें।

संडे टाइम्स के संपादक फिलीसिया ओपलेट ने शापीरो से सहमति जताते हुए कहा कि उन्हें नहीं लगता कि कार्टून में किसी तरह हिंदू समुदाय की भावनाओं को आहत किया गया है।

Leave a Reply

© 2013 lucknowsatta.com · RSS · Designed by TIV Labs